जब आप और आपका पार्टनर बात-बात में प्यार से नहीं बल्कि चिल्लाकर एक-दूसरे से बातें करने लगें तो इसे टॉक्सिक कम्युनिकेशन कहेंगे.

यदि एक-दूसरे को आप किसी भी काम, उनकी बातों, विचारों में सपोर्ट नहीं करते, तो रिलेशनशिप अनहेल्दी हो चुका है.

क्या आप अपने पार्टनर की सफलता और गुड लक को देखकर ईर्ष्या महसूस करते हैं, तो फिर यह टॉक्सिक रिलेशनशिप की निशानी है.

यदि आपका पार्टनर रिलेशनशिप में आपसे चीटिंग कर रहा/रही है, तो समझ लें रिश्ता टॉक्सिक हो रहा है. 

यदि आप दोनों एक-दूसरे को रिलेशनशिप में होने के बावजूद भी इग्नोर करना शुरू कर दें, तो समझ लें रिश्ते में प्यार नहीं रहा.